Thursday, February 28, 2019

शिव🕉फिर से तांडव कर डालो





जटा जूट🕉अति रूप भयंकर, फिर से तांडव कर डालो,
भारत माता🇮🇳घिरी है विष🐍से, बूंद-बूंद💧💧हर, हर डालो ।

वीरभद्र💪🏻एक बार ही भेजा, दक्ष यज्ञ🔥विध्वंस किया,
एक हाथ में माला📿थी तो, भाला🔱भी था साथ लिया,
सीमा के उस पार भी शम्भू🙏, ऐसा ही कुछ कर डालो ।
भारत माता घिरी...
 
आँख त्रितीय👁खोल प्रभु जी, पाक❌साफ़ तुम कर दो अब,
मरघट💀के एकमात्र स्वामी, कब्रों☠में ला भर दो सब,
कौन कहेगा, कौन पूछेगा, जो पूछे उसे धर डालो।
भारत माता घिरी...

भोले नाथ🚩तज दो भोलापन, साम दान दंड भेद करो, 
जो अकड़े और आंख👀तरेरे, उसकी छाती में छेद करो,
हम नंदी🐂अंगद बजरंगी🐵, हों ऐसा दे वर डालो।

जटा जूट🕉अति रूप भयंकर, फिर से तांडव कर डालो,
भारत माता 🇮🇳घिरी है विष🐍से, बूंद-बूंद💧💧हर, हर डालो।
      
       🕉☠🕉🚩🕉🐂🕉👁‍🕉🐍🕉🙏🕉🚩🕉☠🕉

No comments:

Post a Comment