Wednesday, February 6, 2019

तेरे आने की आस




तेरे बिना जीना💑 भी मेरी जान 💕क्या जीना है,
साँस ले रहा हूँ बस 😞दूरी का गम पीना है,

तेरे आने की आस 😊ही एक उम्मीद है,
मर मिटूँगा तुझ पे हर जन्म में मेरी ज़िद है,
जानूंगा खुद को मिलूँगा खुद से,
मर मिटा हूँ तुझ पे ऐ मेरी मंजिल,
करना है प्यार💏 तुझ से टूट कर,
मेरे सीने की 💖बस यही एक ज़िद है,


होश अब संभलता नहीं 😥थाम ले 👭आ के,
मुझे जरुरत अब रूह के सकून की है,
आ मेरे करीब ए मेरी जान💑 तुझ बिन जीना,
अब किसी बद-दुआ 😢से कम नहीं है।

🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

1 comment:

  1. Wao wao .... Jisne bhi likha hai ye bahut hi sundar likha hai ....Ashu bless you

    ReplyDelete