Wednesday, April 3, 2019

हनुमंत🐵लाल, कर दो कमाल👌🏼

सिया पति के वीर💪, अतिशय गंभीर🌞,
हनुमंत🐵लाल, कर दो कमाल👌🏼।
फिर संस्कृति🌅की हुई दुर्गति🌑,
अति से अति, बनो तुमहिं ढाल।

जो था लंकेश👹, कर साधु🧘‍वेश ,
जग जननी👣मईया, संग किया कलेश।
तब यही बजरंगी, केसरिया🚩रंगी ,
फूँक🔥डाली लंका, छोड़ा न शेष।
है राम🏹 दूत, अंजनी के पूत,
दुश्मन से ठन, टेढ़ी कर दे चाल।
हनुमंत लाल कर दो...

छाती दे फाड़, राक्षश दे गाड़ ,
राम🙏🏼कार्य हो तो, ले उड़े पहाड़।
बूटी🌱ले आये, प्रभु को सुहाए,
कंपित💥हैं सब, सुन के दहाड़।
यही जोश तो, दिव्य☄होश तो,
हे पवन तनय, लिख दो कपाल।
हनुमंत लाल कर दो...

बस एकहि माँग, फिर वो छलाँग
तुम मारो तो, रिपु 👺ठारो तो।
व्याकुल धरा🌏है, विष🐍ही भरा है
बन भोले🕉नाथ, रचो दिव्य सवांग।
रावण दहन🕯करो, रण दनुज हरो,
रिपु रक्त से, ये धरा कर दो लाल🛑।

सिया पति के वीर💪, अतिशय गंभीर🌞,
हनुमंत🐵लाल, कर दो कमाल👌🏼।
फिर संस्कृति🌅की हुई दुर्गति🌑,
अति से अति, बनो तुमहिं ढाल।

🎪🚩🏹🚩जय श्री राम 🚩🏹🚩🎪

No comments:

Post a Comment