Tuesday, June 25, 2019

आप भूल जाओ हमें


आप भूल जाओ हमें यही गुज़ारिश करते हैं,

आपका कोई डर नहीं पर हम दुनिया से डरते हैं।

दिल सोचकर थक जाता है कि वो कौन सा चेहरा है,जो चुपके हमको चाहता है।

मन ही मन में चाहा मैंने दिल में तस्वीर बनाई,

जहाँ होता है प्यार सच्चा वहाँ जरूर होती है रुसवाई।

जाने कैसा लोगों का मिज़ाज हो गया,

बेवफाई अब तो एक रिवाज़ हो गया,

हँसता नहीं है कोई भी दिल खोलकर यहाँ,

मुस्कुराना हँसने का अंदाज हो गया। 
(जानप्रीत गिल )
🌹🌸🌷🌳🌲🌻🍁💘💗😋😊😚😘 💖💕💔💓💝💞💧

No comments:

Post a Comment